मातृवन पर 15 हजार मातृशक्ति ने वृक्षारोपण कर मां धरती का किया श्रंगार

Jul 7, 2024 - 19:26
 0  21
मातृवन पर 15 हजार मातृशक्ति ने वृक्षारोपण कर मां धरती का किया श्रंगार

इंदौर। 7 जुलाई को बिजासन स्थित बीएसएफ कैंप में शहर के विभिन्न हिस्सों से आई हजारों मातृशक्ति ने धरती मां को हरियाली की चुनर चढ़ाई. इस अवसर पर कई लोगों ने अपनी मां की स्मृति में और कई लोगों ने अपनी मां की उपस्थिति में एक पेड़ मां के नाम अभियान के अंतर्गत वृक्षारोपण किया। वृक्षारोपण अभियान में मातृशक्ति का उत्साह चरम पर था और वे अपने सिर पर कलश उठाकर बैंड-बाजों के साथ आयोजन स्थल पर आई थी। 

कार्यक्रम में माननीय केंद्रीय वन और पर्यावरण मंत्री श्री भूपेंद्रजी यादव, माननीय मुख्यमंत्री श्री मोहनजी यादव, माननीय नगरीय प्रशासन मंत्री श्री कैलाशजी विजयवर्गीय, माननीय जल संसाधन मंत्री श्री तुलसीजी सिलावट, माननीय महापौर पुष्यमित्र भार्गव, माननीय विधायक श्री रमेशजी मेंदोला, माननीय विधायक श्री गोलूजी शुक्ला, माननीय विधायक श्री मधुजी वर्मा, माननीय सांसद श्री शंकरजी लालवानी, भाजपा नगर अध्यक्ष श्री गौरवजी रणदीवे, भाजपा ग्रामीण अध्यक्ष श्री चिंटूजी वर्मा, वरिष्ठ भाजपा नेता श्री कृष्ण मुरारी मोघे, श्री संजयजी शुक्ला, श्री अक्षयकांति बम, उमाशशीजी शर्मा, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती रीनाजी मालवीय बीएसएफ की आईजी श्री बीएस रावत, महानिरीक्षक बीएसएफ श्री अश्विन कुमार शर्मा उपस्थित थे।

कार्यक्रम का शुभारंभ माननीय अतिथियों ने पौधारोपण के साथ किया। इसके बाद मंच पर जीप प्रज्वलित कर देववृक्ष वटवृक्ष का पूजन किया गया। इस अवसर पर संबोधित करते हुए माननीय केंद्रीय वन और पर्यावरण मंत्री श्री भूपेंद्रजी यादव ने कहा कि इस साल गर्मी काफी थी इसकी वजह हमने विकास के नाम पर क्रांकीट के जंगल खड़े कर दिए और हरियाली को उजाड़ कर जंगल वीरान कर दिए हैं। मानव कितनी ही तरक्की करले, लेकिन उसको जीवन की सभी वस्तुएं प्रकृति से मिलती है, लेकिन इसके बदले हम उसको खराब जल और कटे हुए पेड़ लौटाते हैं। मां के अलावा धरती हमको पालती है इसलिए हमारे राष्ट्रगीत में भी शस्य श्यामलाम कहकर मां धरती का गुणगान किया है।

इस अवसर पर बोलते हुए मुख्यमंत्री श्री मोहनजी यादव ने कहा कि सनातन संस्कृति में पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया गया है और प्रकृति के साथ तालमेल बिठाकर जीवन को संतुलित तरीके से चलाने की हमारी प्राचीन परंपरा रही है। चंबल, गंभीर जैसी 7 नदियों का उदगम इंदौर है। इसलिए पर्यावरण संरक्षण में इंदौर का महत्व काफी बढ़ जाता है। एक पेड़ मां के नाम अभियान में हिस्सा लेने के लिए कई माताएं अपने बच्चों के साथ आई हैं मैं उनको प्रणाम करता हूं।

माननीय नगरीय प्रशासन मंत्री श्री कैलाशजी विजयवर्गीय ने कहा कि इंदौर में माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्रजी मोदी की प्रेरणा से एक पेड़ मां के नाम के तहत वृक्षारोपण अभियान चलाया जा रहा है। इंदौर अभी हरित क्षेत्र के मामले में देश में 10वें  नंबर पर है। हमारी कोशिश है कि आने वाले पांच साल में यह क्लीन सिटी, स्मार्ट सिटी के साथ ग्रीन सिटी में भी नंबर वन बन जाए। अभी क्लीन सिटी इंदौर को देखने के लिए लोग आते हैं हमारा प्रयास है कि आने वाले समय में देश-विदेश से लोग ग्रीन सिटी को भी देखने के लिए आए। यह वृक्षारोपण केवल 7-8 दिनों का अभियान नहीं है। हम लगाए गए वृक्षों की सालभर तक देखभाल कर उनको वृक्ष बनाएंगे। इस अभियान में शहर के विभिन्न समाज और संगठन हमारे साथ जुड़े हुए हैं और समाज के आराध्य देव के नाम पर वनों का नामांकरण किया जा रहा है। इस सिलसिले में हम अभी तक करीब 125 बैठक ले चुके हैं। इंदौर में 5-5 फीट के पेड़ खरीदे गए हैं क्योंकि उनका सर्वाइल रेट 100 प्रतिशत है। 20 से 25 करोड़ के पेड़ इंदौर की जनता ने इंदौर को दिए हैं। यह जनभागीदारी का सबसे बड़ा उदाहरण है।

इस अवसर पर केंद्रीय वन और पर्यावरण मंत्री श्री भूपेंद्रजी यादव, मुख्यमंत्री श्री मोहनजी यादव,  नगरीय प्रशासन मंत्री श्री कैलाशजी विजयवर्गीय ने अपनी मां की स्मृति में वृक्षारोपण किया। 40 से ज्यादा संस्थाओं के करीब 5 हजार सदस्य और 20 से ज्यादा स्कूलों के हजारों बच्चों, अभिभावकों, शिक्षकों और प्रबंधकों सहित करीब 20 हजार से ज्यादा लोगों ने इस आयोजन में भाग लिया। खबर लिखे जाने तक बिजासन स्थित बीएसएफ रेंज पर 70 हजार वृक्षों का रोपण हो चुका था।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow