Dec 06 2022 / 7:37 PM

भूमिका कलम एक परिचय

कई कार्य क्षेत्रों में सफलता के मानकों पर पहुँचने के बाद भूमिका ने कर्म के साथ ध्यान का मार्ग चुना। वर्षो से प्रकृति के नजदीक रहते हुए टैरो कार्ड्स ज्ञान को सहज बोध ओर आत्म ज्ञान से प्राप्त किया। टैरो की विधिवत शिक्षा प्राप्त कर वे 12 वर्ष के अनुभव के साथ टैरो, वास्तु, कुंडली ओर लाल किताब रिसर्च कार्य कर रही हैं। भारत ओर भारत के बहार से भी कई लोग भूमिका जी से टैरो ओर वास्तु के सुझाव लेकर सफलता पूर्वक कार्य कर रहे हैं।

इसके साथ ही भूमिका ने लाल किताब ओर टैरो के प्रकृति अंदाज़ के साथ कुछ खास रेमेडी पर रिसर्च की है जिसके कुछ बिंदुओं पर विज्ञान के तथ्यों सहित बात की जा सकती है। इस रिसर्च कार्य के लिए उन्होंने एस्ट्रोभूमि प्लेटफॉर्म बनाया जो अंतररास्ट्रीय स्तर पर लाखों लोगों की मदद कर रहा है जिससे लोग अपने वर्तमान में एस्ट्रो रेमेडीज को अपनाकर अपने भविष्य को सुनहरा बना रहें हैं।

संस्कृति और शास्त्रों की वैज्ञानिक और तार्किक समझ के लिए भूमिका युवाओं के लिए पूरे देश में मोटिवेशनल सेमिनार भी कर रही हैं। इस श्रंखला में वे राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 150 सेमिनार कर चुकी हैं।

टैरो क्या है

एक प्राचीन भविष्यसूचक प्रणाली है जिसका प्रयोग कर भविष्य की घटनाओं को देखा जाता है, उनका आंकलन किया जाता है और उनके समाधान का प्रयास किया जाता है। यह विद्या चित्र और प्रतीकों वाले कार्ड्स के उपयोग पर आधारित होती है। अगर हम बात करें इसके इतिहास की, तो टैरो रीडिंग रीडिंग प्राचीन मिस्र और भारत की भविष्यवाणी के लिए प्रयोग की जाने वाली पुरानी विद्या है। टैरो कार्ड्स एक दर्पण की तरह होते हैं जिसमें व्यक्ति के व्यक्तित्व को साफ़-साफ़ देखा सकता है।

कैसे काम करता है टैरो

टैरो कार्ड रीडिंग आपके अशांत मन को शांत करने में सहायक हो सकती है, इससे आपके धूमिल विचारों को सपष्टता मिलती है। निश्चित तौर पर यह कहा जा सकता है कि आपको जीवन में आगे बढने, एक नया नजरिया देने में टैरो रीडिंग आपकी मददगार हो सकती है। जीवन के उन मुश्किल हालातों में जब किसी को यह तय नहीं करने में दिक्कत महसूस हो कि उसे क्या करना चाहिए, तो टैरो कार्ड रीडिंग आपका मार्गदर्शन कर सकती है।

आप अपने द्वारा चुने हुए टैरो कार्ड्स के आधार पर अपने जीवन के सभी क्षेत्रों जैसे प्यार, कैरियर, सेहत, धन, कार्यों, यात्रा,व्यवसाय, संबंधों आदि के विषय में जान सकते हैं।

राहू ओर केतु (छाया ग्रहों ) पर किया जा सकता है| इसमें टैरो से सम्बंधित काफी चर्चा की जा सकती है जैसे

-इन ग्रहों के प्रभाव में उर्जा का स्तर, मानसिक दशा ओर निर्णय लेने में होने वाली गलतिया भी शामिल है।

-टैरो चूँकि प्रकृति की उर्जा से जुडी विधा है इसलिए इसमें कुछ रेमेडी के जरिये दर्शकों को उर्जा का औरा बढ़ाने के बारे में जानकारी दी जा सकती है।

-टैरो से न सिर्फ राहु या केतू बल्कि नव ग्रह की जानकारी आसानी से मिलती है। जैसे पित्र दोष से लेकर मंगल या गुरु के पीड़ित होने तक कि जानकारी।

  • टैरो से यह भी जाना जा सकता है कि आपका खोया प्यार वापस आएगा या न, या फिर आपकी हेल्थ में सुधार कब तक होगा।

Chhattisgarh