Nov 29 2022 / 5:29 PM

IIT मद्रास में बोले पीएम मोदी- शिक्षा निरंतर प्रक्रिया है जो जीवन भर चलती है…

चेन्नई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को आईआईटी मद्रास के दीक्षांत समारोह में हिस्सा लेने चेन्नई पहुंचे। उन्होंने आईआईटी कैम्पस में ही चल रहे भारत-सिंगापुर हैकेथॉन के विजेताओं को भी सम्मानित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि अमेरिका में जब इन्वेस्टर्स और टेक्नोलॉजी के बड़े लोगों से बात की तो सबने एक ही बात कही कि वे भारतीय लोगों पर भरोसा करते हैं। भारतीय समुदाय ने पूरी दुनिया में नाम कमाया है। खासकर साइंस और टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में। इनमें से कई आपके सीनियर हैं। आप ब्रांड इंडिया को पूरी दुनिया में मजबूत बना रहे हैं।

प्रधानमंत्री ने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा, आज यहां आना सुखद अहसास है। मुझे आपकी आंखों में भारत का भविष्य नजर आ रहा है। मैं सभी ग्रैजुएटों के माता-पिता को बधाई देना चाहता हूं। आपके माता-पिता और शिक्षकों को आज आप पर गर्व होगा। इसमें सपोर्ट स्टाफ की भी अहम भूमिका रही है। उन्होंने आपके क्लास को साफ रखा। आपकी सफलता में उनका भी किरदार है। मैं अपने छात्र दोस्तों से अपील करुंगा कि वे अपने टीचर्स, पैरेंट्स और सपोर्ट स्टाफ को स्टैंडिंग ओवेशन दें।

उन्होंने कहा, यह राज्य दुनिया की सबसे पुरानी भाषाओं में से एक तमिल का घर है। यह दुनिया में सबसे नई भाषा आईआईटी मद्रास लिंगो का जन्मदाता है। यहां से जाने के बाद आप बहुत कुछ मिस करेंगे। आप सारंग और शास्त्र को मिस करेंगे। आप अपने दोस्तों को मिस करेंगे। अब आप टॉप क्वालिटी फुट‌वियर बिना किसी डर के खरीद सकेंगे। आप भाग्यशाली हैं कि आप एक शानदार संस्थान से पासआउट हो रहे हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि जब आप यहां से बाहर निकलेंगे तो कई मौके आपका इंतजार कर रहे होंगे। अपने कौशल का वहां इस्तेमाल करें। याद रखिए आप चाहे जहां भी हों अपनी भारत माता को नहीं भूलिएगा। आपकी रिसर्च आपके देश को कई फायदे पहुंचा सकती है। साथ ही उन्होंने छात्रों से पूछा, क्या आप हमारे घरों में पानी रिसाइकिल करने के लिए कुछ सस्ता और अच्छी व्यवस्था कर सकते हैं? प्लास्टिक को रिसाइकिल करने के लिए आप क्या कर सकते हैं। इन्हीं कुछ चीजों के लिए हम आपकी तरफ देखते हैं।

मोदी ने कहा कि कई बीमारियां जो अभी घातक नहीं है आने वाले समय में परेशानी खड़ी करेंगी। इनमें हाईपर टेंशन, टाइप-2 डायबिटीज सबसे ज्यादा होगी। जब आपकी टेक्नोलॉजी डेटा साइंस के साथ जुड़ेगी, तब इन समस्याओं का हल निकलेगा। मैं आपसे फिट इंडिया मूवमेंट में भागीदार बनने का आग्रह करता हूं। हमने देखा है कि दो तरह के लोग होते हैं। जो जीते हैं और जो खुलकर जीते हैं। यह आप पर है कि आप सिर्फ जीना चाहते हैं या खुलकर जीना चाहते हैं। स्वामी विवेकानंद ने कहा था- बस वही जीते हैं जो दूसरों के लिए जीते हैं।

इससे पहले उन्होंने छात्रों को बधाई देते हुए मोदी ने कहा, यहां कई लोग पिछले 36 घंटे से मुश्किल सवालों को हल करने में जुटे हैं। उनकी ऊर्जा को सलाम। मुझे उनके चेहरे पर थकान नहीं दिखती, बल्कि काम पूरा करने की संतुष्टि दिख रही है। मुझे उम्मीद है कि आज आपने जिन मुश्किलों को हल किया है, वो कल स्टार्टअप शुरू करने का आइडिया बनेंगी। प्रधानमंत्री ने कहा कि आपकी चुनौतियां स्वीकारने और उन्हें सुलझाने की मंशा समस्या को सुलझाने से ज्यादा कीमती है।

चेन्नई पहुंचने से पहले प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, चेन्नई आकर हमेशा मुझे बहुत खुशी होती है। 2019 के चुनाव के बाद यह मेरी राज्य की पहली यात्रा है। मैं इस गर्मजोशी से भरे स्वागत के लिए आप सभी का आभारी हूं। उन्होंने कहा कि दुनिया को भारत से बहुत उम्मीदें हैं और उनकी सरकार देश को महानता के पथ पर लेकर जाएगी। दोबारा सत्ता में आने के बाद यह उनकी पहली तमिलनाडु यात्रा है।

Chhattisgarh