Nov 27 2022 / 8:22 AM

अनंत कुमार हेगड़े के बयान पर फडणवीस ने दी ये सफाई

मुंबई। बीजेपी नेता अनंत कुमार हेगड़े के उस बयान से हंगमा मच गया है, जिसमें उन्होंने देवेंद्र फडणवीस के दुबारा मुख्यमंत्री और 80 दिनों में सरकार गिरने को लेकर बड़ा खुलासा करते हुए कहा कि केन्द्र सरकार ने लगभग 40,000 करोड़ रुपये महाराष्ट्र को दिए थे। उन्हें पता था कि अगर कांग्रेस-एनसीपी-शिवसेना की सरकार सत्ता में आती है तो वह विकास के लिए धन का दुरुपयोग करेगी। इसलिए यह ड्रामा किया गया।

उनके इस बयान के बाद महाराष्ट्र की महा विकास अघाड़ी सरकार ने बीजेपी पर पलटवार करना शुरू कर दिया है। शिवसेना नेता संजय राउत ने तंज कसते हुए कहा कि यह महाराष्ट्र के साथ गद्दारी है। वहीं अपने उपर लगे आरोपों के बाद देवेंद्र फडणवीस को बचाव के लिए मैदान में उतरना पड़ा है।

अनंत कुमार हेगड़े के इस बयान के तूल पकड़ता देख अपना बचाव करते हुए पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि मैने मुख्यमंत्री रहने के दौरान कोई नीतिगत फैसले नहीं लिए। मुझपर लगाए जा रहे सभी आरोप झूठे हैं। देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि बुलेट ट्रेने के प्रोजेक्ट में जमीन अधिग्रहण के अलावा राज्य सरकार की कोई भूमिका नहीं है। देवेंद्र फडणवीस अब अनंत कुमार हेगड़े के बयान पर सफाई दे रहे हैं तो वहीं विरोधी पार्टी अब इसे मुद्दा बनाकर केंद्र सरकार को घेरने के मन बना चुकी है।

दरअसल अनंत कुमार हेगड़े ने अपने बयान में कहा है कि केंद्र के 40 हजार करोड़ बचाने के लिए देवेंद्र फडणवीस को 80 घंटे के लिए सीएम बनना पड़ा था। अनंत कुमार हेगड़े कहा कि यह फैसला देवेंद्र फडणवीस को जानबूझकर लेना पड़ा ताकि पैसों को दुरपयोग नहीं हो सके। अनंत कुमार हेगड़े का बयान उस सवाल पर आया था जिसमें पूछा जा रहा है था कि देवेंद्र फडणवीस कम समय के लिए सीएम क्यों बने थे।

उन्होंने कहा कि सीएम बनने के बाद देवेंद्र फडणवीस ने पूरे पैसे को वापस केंद्र सरकार के पास पहुंचा दिया। इसके लिए ड्रामा किया गया। अनंत कुमार हेगड़े ने कहा कि क्या हम सब नहीं जानते थे कि बीजेपी के महाराष्ट्र में बहुमत नहीं थी उसके बाद भी हमारी सरकार बन गई। उसके 80 घंटे बाद उन्होंने इस्तीफा दे दिया।

Chhattisgarh