Nov 27 2022 / 6:34 AM

महाराष्ट्र को राष्ट्रपति शासन की तरफ धकेल रही है भाजपा: संजय राउत

मुंबई। महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर चल रही खींचतान 15वें दिन भारी जारी रही और राज्य विधानसभा के कार्यकाल को खत्म होने में 48 घंटे बचे हैं, ऐसे में शिवसेना ने गुरुवार को अपने सहयोगी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर राज्य को राष्ट्रपति शासन की तरफ ले जाने का आरोप लगाया।

शिवसेना के सांसद संजय राउत ने कहा, भाजपा सबसे बड़ी पार्टी है.. अगर उसे भरोसा है तो उसे सरकार बनाने के लिए दावा करना चाहिए और समर्थन देने वाले 145 विधायकों की सूची सौंपनी चाहिए। अगर वे ऐसा नहीं कर सकते तो उन्हें सार्वजनिक तौर पर इसकी घोषणा करनी चाहिए और विपक्ष में बैठने की तैयारी करनी चाहिए।

राउत ने भाजपा पर हमला करते हुए कहा, सरकार बनाने के लिए कोई कदम नहीं उठाकर भाजपा दूसरे विकल्पों को इजाजत नहीं दे रही और जानबूझकर राज्य को राष्ट्रपति शासन की तरफ धकेल रही है। समय बदल गया है। आप के सत्ता से बाहर होने के बाद साम, दाम, दंड व भेद की राजनीति काम नहीं करेगी।”

विकल्पों के बारे में पूछे जाने पर राउत ने कहा कि शिवसेना विकल्पों पर बात नहीं करेगी और वह इसे विधानसभा में साबित करेगी। राउत शिवसेना के पास 170 विधायकों के समर्थन का दावा करते हैं। उन्होंने कहा, संविधान देश के लोगों के लिए है, किसी की निजी संपत्ति नहीं.. संवैधानिक तौर पर शिसेना का मुख्यमंत्री होना चाहिए।

Chhattisgarh