Nov 26 2022 / 11:11 PM

बेहद फायदेमंद हैं तुलसी की पत्तियां, जानें इस्तेमाल का सही तरीका

डायबिटीज के बाद आजकल लोग सबसे ज्यादा जिस बीमारी से पीड़ित हो रहे हैं वो है यूरिक एसिड (Uric Acid)। यूरिक एसिड एक ऐसा केमिकल है जो शरीर में तब बनता है जब प्यूरिन नाम का तत्व ब्रेकडाउन हो जाता है। डॉक्टरों की मानें तो शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाने से कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। अगर समय रहते इसे कंट्रोल नहीं किया गया तो ये आपके लिए खतरनाक साबित हो सकती है।

ऐसे में अगर आप भी बढ़े हुए यूरिक एसिड के लेवल को कम करना चाहते हैं तो यह खबर आपके लिए है क्योंकि आज हम आपको एक घरेलू नुस्खे के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे अपनाकर आप यूरिक एसिड को नियंत्रित कर सकते हैं। जी हां, यह घरेलू नुस्खा तुलसी के पत्तों का है। आइए जानते हैं तुलसी के पत्ते किस तरह से यूरिक एसिड को कंट्रोल करने में मदद करता है। साथ ही जानिए इसके इस्तेमाल का सही तरीका।

औषधीय गुणों से भरपूर तुलसी स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद माना जाता हैं। इसमें अलसोलिक एसिड, यूजेनॉल और एंटी ऑक्सीडेंट प्रचुर मात्रा में मौजूद होता है जोकि यूरिक एसिड के लेवल को कम करने में सहायक होता है।

यूरिक एसिड के मरीज यूं करें तुलसी के पत्तों का इस्तेमाल-

इसके लिए सबसे पहले 5 से 6 तुलसी की पत्तियां लें।
उसके बाद इन पत्तों को पानी से अच्छे से धो लें।
अब इन्हें कालीमिर्च और देसी घी के साथ मिलाकर खाएं।
रोजाना इसका इस्तेमाल करने से आपको काफी फायदा मिलेगा।

Chhattisgarh