Nov 28 2022 / 8:42 PM

छत्तीसगढ़ शौर्य पदक के लिए 4 वीरों का चयन, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के हाथों दिया जाएगा पुरस्कार

रायपुर। प्रदेश में नक्सल विरोधी अभियान में शौर्य और बहादुरी दिखाने वाले पुलिस के जांबाज जवानों को पहली बार “छत्तीसगढ़ शौर्य पदक” दिया जा रहा है। पहले “छत्तीसगढ़ शौर्य पदक” के लिए 4 वीरों का चयन किया गया है। जिसमें दो शहीद जवान भी शामिल हैं। राज्योत्सव अलंकरण समारोह में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और गृहमंत्री के हाथों यह पुरस्कार दिया जाएगा।

शहीद उप निरीक्षक युगल किशोर वर्मा एवं शहीद आरक्षक कृषलाल साहू को मरणोपरांत छत्तीसगढ़ शौर्य पदक से सम्मानित किया जायेगा। सम्मान को प्राप्त करने के लिये शहीद उप निरीक्षक युगल किशोर वर्मा की धर्मपत्नी उप निरीक्षक माधुरी वर्मा एवं शहीद आरक्षक कृषलाल साहू की धर्मपत्नी आरक्षक अहिल्या साहू तथा दोनों शहीदों के परिजनों को राज्योत्सव-2019 अलंकरण समारोह हेतु आमंत्रित किया गया है।

06.08.2017 को जिला राजनांदगांव के भावे जंगल में नक्सलियों की उपस्थिति की सूचना पर पुलिस पार्टी रवाना हुई थी। पुलिस पार्टी के द्वारा भावे जंगल में नक्सली कैम्प को ध्वस्त करने के दौरान उप निरीक्षक युगल किशोर वर्मा तथा आरक्षक कृषलाल साहू द्वारा अपने जान की परवाह ना करते हुये आगे बढ़कर नक्सलियों से मुकाबला किया गया। इस दौरान नक्सलियों की गोली लगने से उप निरीक्षक युगल किशोर वर्मा एवं आरक्षक कृषलाल साहू शहीद हुए थे।

वहीं 19.07.2018 को जिला दंतेवाड़ा के तिमेनार जंगल में नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में बेहतर रणनीति के साथ सहायक उप निरीक्षक सुरेश कश्यप एवं प्रधान आरक्षक ताती मुकेश द्वारा नक्सलियों को मुहतोड़ जवाब दिया गया। इस कार्यवाही में 08 नक्सलियों के शव तथा 02 नग इंसास रायफल, 02 नग 303 रायफल एवं काफी बड़ी मात्रा में हथियार एवं विस्फोटक सामग्रियां बरामद की गई।

Chhattisgarh